ग्राउंड रिपोर्ट: विरासत को हाथ या कमल का साथ, इस सीट पर इन दो दिग्गजों के बीच कांटे का मुकाबला

हरियाणा की इस सीट पर कांग्रेस और भाजपा के बीच कांटे का मुकाबला है। भाजपा प्रत्याशी को सत्ता विरोधी लहर को थामने में तो कांग्रेस प्रत्याशी कांग्रेसियों को एकजुट कर खोए हुए जनाधार को पाने में जुटीं हैं।
गेहूं की फसल कट चुकी है। गंगा रूपी घग्गर के किनारे अब सियासत की जमीन सींची जा रही है। प्रत्याशी जनसभाओं और रोड शो के जरिए वादों और इरादों से मतदाताओं को लुभाने में लगे हैं। चुनावी शोर के बीच मतदाता भी मुद्दों पर मुखर होने लगे हैं। किसान आंदोलन की कसक किसानों की जुबां पर है। न्यूनतम समर्थन मूल्य का मुद्दा अब भी गरम है।
टेंडर प्रक्रिया में विकास बाधित होने से सरपंच आहत हैं। कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाली का मुद्दा भी सुलग रहा है। यह स्थिति है पंजाब से सटे अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित सिरसा संसदीय क्षेत्र की, जहां इंडिया गठबंधन से कांग्रेस की प्रत्याशी कुमारी सैलजा और भाजपा के उम्मीदवार अशोक तंवर के बीच सीधी लड़ाई है।

सैलजा के सामने खोए हुए जनाधार को पाने का तो तंवर के समक्ष दोबारा कमल खिलाने की चुनौती है। सिरसा, फतेहाबाद और जींद जिले के नौ विधानसभा क्षेत्रों को समेटे इस लोकसभा क्षेत्र में हमने दो दिन में करीब 400 किलोमीटर सफर तय किया। चौपालों पर करीब 100 लोगों से बातचीत की।
मतदाताओं के शुरुआती रुझान से ऐसा लगा कि भाजपा और कांग्रेस के बीच कड़ा मुकाबला है। दोनों ही दलों के प्रत्याशी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं, ऐसे में इस मुकाबला दिलचस्प है। फिलहाल भाजपा चुनावी प्रचार से मतदाताओं तक पहुंच बनाने में सबसे आगे है। मीनू बेनीवाल के पार्टी में शामिल होने से ऐलनाबाद में भाजपा की ताकत बढ़ी है।


हलोपा के साथ आने से सिरसा और आसपास के क्षेत्रों में तंवर के साथ ज्यादा लोग खड़े दिखाई देते हैं तो तंवर सत्ता विरोधी लहर से जूझते हुए भी नजर आ रहे हैं। वहीं, महज कुछ दिन पहले चुनाव मैदान में उतरीं कुमारी सैलजा की चर्चा भी हर जुबान पर है।

वह सत्ता विरोधी लहर का लाभ उठाने की कोशिश कर रही हैं। चूंकि दोनों प्रत्याशी एक ही जाति और पृष्ठभूमि से हैं, इसलिए सबसे बड़ा अनुसूचित जाति का वोट बैंक बंटता नजर आ रहा है। हालांकि आधे मतदाता अभी असमंजस में हैं। रणदीप सुरजेवाला के प्रभाव वाले और जाट बहुल क्षेत्र नरवाना से भी सैलजा को समर्थन मिलता हुआ दिख रहा है। पूर्व डिप्टी सीएम चंद्रमोहन और पूर्व गृह मंत्री मनीराम गोदारा के परिवार के सैलजा के साथ हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रमुख खबरे

hi Hindi
X
error: Content is protected !!
सिर्फ सच टीवी भारत को आवश्यकता है पुरे भारतवर्ष मे स्टेट हेड मंडल ब्यूरो जिला ब्यूरो क्राइम रिपोर्टर तहसील रिपोर्टर विज्ञापन प्रतिनिधि तथा क्षेत्रीय संबाददाताओ की खबरों और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे:- 8764696848,इमेल [email protected]