भारत को छूट नहीं मिलेगी’, कनाडा के आरोपों पर अमेरिका ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

 

‘भारत को छूट नहीं मिलेगी’, कनाडा के आरोपों पर अमेरिका ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

कनाडा के आरोपों पर अमेरिका ने कहा था कि वो इसे लेकर बेहद चिंतित है और भारत से आग्रह है कि वो जांच में सहयोग करे. अब अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने भारत पर सख्ती दिखाई है. उन्होंने कहा है कि इस मामले पर भारत को कोई विशेष छूट नहीं मिले

 

भारत पर कनाडा के आरोपों को लेकर अमेरिका सख्त होता दिख रहा है. अमेरिका ने कनाडा में खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर हत्याकांड में भारत की संलिप्तता के आरोपों पर कहा है कि इस मामले में अमेरिका की तरफ से भारत को कोई विशेष छूट नहीं मिलेगी. गुरुवार को व्हाइट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सुलिवन ने सख्त लहजे में कहा कि अमेरिका अपने बुनियादी सिद्धांतों के लिए खड़ा रहेगा चाहे इससे कोई भी देश प्रभावित हो.

 

व्हाइट हाउस प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए सुलिवन ने कहा कि अमेरिका कनाडा के आरोपों को लेकर बेहद चिंतित है और आरोप की जांच का समर्थन करता है. उन्होंने कहा कि अमेरिका चाहता है, अपराधियों को न्याय के कठघरे में लाया जाए.

 

सुलिवन से पत्रकारों ने पूछा कि क्या राष्ट्रपति जो बाइडेन इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करेंगे और क्या यह विवाद अमेरिका और भारत के रिश्तों के लिए खतरा पैदा कर सकता है?

 

 

जवाब में सुलिवन ने कहा कि वो प्राइवेट डिप्लोमैटिक वार्ता के बारे में बात नहीं करना चाहते हैं लेकिन इस मुद्दे को अमेरिका उच्च स्तर पर भारत के अधिकारियों के साथ संपर्क में है.

 

सुलिवन ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा, ‘यह हमारे लिए चिंता का विषय है. यह एक ऐसा मामला है जिसे हमने गंभीरता से लिया है. मामला ऐसा है कि हम इस पर काम करना जारी रखेंगे और किसी देश की परवाह किए बिना हम ऐसा करेंगे. इस तरह के कामों के लिए आपको कोई विशेष छूट नहीं दी जाएगी. बिना किसी देश की परवाह किए हम हमने बुनियादी सिद्धांतों के लिए खड़े रहेंगे. हम अपने करीबी सहयोगी कनाडा के साथ भी निकटता से काम करेंगे क्योंकि मामले की जांच और राजनयिक प्रक्रिया को वो आगे बढ़ा रहा है.’

 

इससे पहले एक प्रेस ब्रीफिंग में सुलिवन ने कहा कि अमेरिका कनाडा में एक हत्या में भारत सरकार के एजेंटों के बीच संभावित लिंक को लेकर बेहद चिंतित हैं. वो जांच का पूरा समर्थन करता है, अपराधियों को न्याय के कटघरे में लाना चाहता है और अमेरिका दोनों सरकारों के संपर्क में है.

 

उन्होंने कहा, ‘जैसे ही हमने कनाडाई पीएम से आरोपों के बारे में सुना, हमने सामने आकर इस आरोप पर अपनी चिंता व्यक्त की. वास्तव में जो हुआ उसकी तह तक जाने और अपराधियों को जवाबदेह ठहराने के लिए कानूनी एजेंसियों को हमारा समर्थन है.’

कनाडा के साथ मतभेद के रिपोर्टों पर क्या बोले अमेरिकी अधिकारी?

 

हाल ही में एक रिपोर्ट सामने आई थी जिसमें कहा गया कि अमेरिका कनाडा के इस मामले में पड़ने से बच रहा है और उससे दूरी बना रहा है. रिपोर्ट में कहा गया कि अमेरिकी इस मामले को लेकर भारत की आलोचना करने से बच रहा है.

 

इन रिपोर्टों को खारिज करते हुए सुलिवन ने कहा, ‘मैंने मीडिया में अमेरिका और कनाडा के बीच दरार पैदा करने की कोशिशों को देखा है. मैं इस बात को दृढ़ता से खारिज करता हूं कि अमेरिका और कनाडा के बीच कोई मतभेद है. हमें आरोपों को लेकर गहरी चिंता है, हम चाहेंगे कि जांच आगे बढ़े और अपराधियों पर कार्रवाई हो. इस आरोप के सामने आने के बाद से ही अमेरिका इस बात पर कायम है कि जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती, अमेरिका अपना पूरा समर्थन देता रहेगा.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रमुख खबरे

hi Hindi
X
error: Content is protected !!
सिर्फ सच टीवी भारत को आवश्यकता है पुरे भारतवर्ष मे स्टेट हेड मंडल ब्यूरो जिला ब्यूरो क्राइम रिपोर्टर तहसील रिपोर्टर विज्ञापन प्रतिनिधि तथा क्षेत्रीय संबाददाताओ की खबरों और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे:- 8764696848,इमेल [email protected]