हरियाणा: नीरज ने 15 दिन पहले पिता को स्वर्ण पदक का दिया था भरोसा, एशियाई खेलों में वादा पूरा किया

नीरज के 88.88 मीटर थ्रो फेंकते ही परिजन और ग्रामीण खुशी से झूम उठे। चाचा भीम चोपड़ा बोले कि वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप के बाद एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक की पक्की उम्मीद थी। पैतृक गांव खंडरा में परिजन और ग्रामीण शाम को सारे काम छोड़कर मैच देखने लगे.            एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के बाद नीरज चोपड़ा के पिता
विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के बाद एशियाई खेलों में नीरज चोपड़ा ने माता-पिता और परिवार ही नहीं, अपने समर्थकों की भी उम्मीदें पूरी कर दी। नीरज ने बुधवार को चीन के हांगझोऊ के एचओएसी स्टेडियम में जेवलिन थ्रो में जैसे ही 88.88 मीटर भाला फेंका, माता-पिता व उनके समर्थक खुशी से झूम उठे। इसी थ्रो के साथ उन्हें स्वर्ण पदक की उम्मीद बंध गई थी।


हरियाणा: नीरज ने 15 दिन पहले पिता को स्वर्ण पदक का दिया था भरोसा, एशियाई खेलों में वादा पूरा किया

नीरज के 88.88 मीटर थ्रो फेंकते ही परिजन और ग्रामीण खुशी से झूम उठे। चाचा भीम चोपड़ा बोले कि वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप के बाद एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक की पक्की उम्मीद थी। पैतृक गांव खंडरा में परिजन और ग्रामीण शाम को सारे काम छोड़कर मैच देखने लगे।

एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के बाद नीरज चोपड़ा के पिता सतीश कुमार को लड्डू खिलाते ग्रामीण। – फोटो : संवाद विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के बाद एशियाई खेलों में नीरज चोपड़ा ने माता-पिता और परिवार ही नहीं, अपने समर्थकों की भी उम्मीदें पूरी कर दी। नीरज ने बुधवार को चीन के हांगझोऊ के एचओएसी स्टेडियम में जेवलिन थ्रो में जैसे ही 88.88 मीटर भाला फेंका, माता-पिता व उनके समर्थक खुशी से झूम उठे। इसी थ्रो के साथ उन्हें स्वर्ण पदक की उम्मीद बंध गई थी

http://www.sirafsachtv.com/archives/7601

पिता सतीश कुमार और मां सरोज देवी ने बताया कि नीरज से 15 दिन पहले फोन पर बात हुई थी। उसने मेहनत को स्वर्ण में बदलने का भरोसा दिया था और बेटे ने अपना वादा मैदान में पूरा कर दिखाया। पिता ने बताया कि स्वर्ण के साथ रजत पदक भी देश की झोली में आने पर खुशी दोगुनी हो गई है।

जिले के खंडरा गांव स्थित नीरज चोपड़ा के घर पर बुधवार सुबह चहलपहल रही। नीरज के पिता सतीश कुमार और मां सरोज देवी के साथ चाचा भीम चोपड़ा ने अपने दैनिक कार्य समय पर निपटाए और शाम को साढ़े चार बजे से पहले ही नीरज का थ्रो देखने के लिए तैयार हो गए। परिजनों ने ग्रामीणों के साथ नीरज का मैच देखा।नीरज जैसे ही मैदान में उतरे तो पूरा घर तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। उनका पहला थ्रो करीब 89 मीटर पर था। परिजन व समर्थक खुशी से झूम उठे, लेकिन अगले ही पल तकनीकी कारणों के चलते थ्रो मान्य न होने पर वे मायूस हो गए।नीरज ने अपना तीसरा थ्रो 88.88 मीटर फेंका तो पूरा घर खुशी से झूम उठा। चाचा भीम चोपड़ा ने बताया कि नीरज का लक्ष्य एशियाई खेलों में इंचियोन-2014 में किंगगांग झाओ का 89.15 मीटर का एशियाई खेलों का रिकॉर्ड तोड़ने का था।

मैं कभी टीवी पर नीरज का मैच नहीं देखता : भीम
चाचा भीम चोपड़ा ने बुधवार को नीरज चोपड़ा का मैच टीवी पर नहीं देखा। वे इस दौरान बाहर गली में खड़े होकर मोबाइल पर स्कोर देखते रहे। पिता सतीश कुमार मैच देखने के दौरान मोबाइल पर भी अपडेट होते रहे। चाचा नीरज चोपड़ा ने बताया कि उन्होंने टीवी पर आज तक नीरज का मैच नहीं देखा। वे उन्हें नजर से बचाने के लिए ऐसा करते हैं।
स्टेडियम में जेवलिन थ्रो देखकर आए थे आगे
नीरज चोपड़ा का जन्म 24 दिसंबर 1997 को पानीपत के खंडरा गांव में हुआ। उनके पिता सतीश कुमार पेशे से किसान हैं और मां सरोज देवी एक गृहिणी हैं। नीरज बचपन में मोटे थे। उन्हें 13 साल की उम्र में स्टेडियम लेकर गए। यहां उन्हें दौड़ने के लिए कहा गया, लेकिन वे जेवलिन की तरफ ध्यान देने लगे। उन्होंने दौड़ के बजाय जेवलिन थामा और आज 25 साल की उम्र में देश का नाम सुनहरे अक्षरों में लिख रहे हैं।

नीरज के इन थ्रो पर धड़कता है खेलप्रेमियों का दिल
नीरज चोपड़ा का सर्वश्रेष्ठ थ्रो 89.94 मीटर का है। उन्होंने 30 जून, 2022 को स्वीडन में स्टॉकहोम डायमंड लीग में दर्ज किया था। यह उनका व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ थ्रो है। इसके साथ देश के पुरुष वर्ग में रिकॉर्ड है। नीरज चोपड़ा के नाम ही पिछले तीन रिकॉर्ड हैं। उन्होंने पावो नुरमी गेम्स 2022 में 89.30 मीटर, पटियाला में 2021 इंडियन ग्रां प्री-3 में 88.07 और जकार्ता में 2018 एशियाई खेल में 88.06 मीटर थ्रो किया था। विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में नीरज चोपड़ा का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन बुडापेस्ट 2023 में क्वालिफाइंग राउंड के दौरान आया था। उन्होंने यहां 88.77 मीटर थ्रो किया। उन्होंने 2022 ओग्रेन फाइनल में 88.13 मीटर थ्रो किया। यहां भारत को ऐतिहासिक रजत पदक मिला। नीरज ने विश्व चैंपियनशिप-2023 में 88.17 मीटर भाला फेंककर देश को स्वर्ण पदक दिलाया।

एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने पर मनोहर लाल ने दी बधाई
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भारत के स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा को एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीतने पर बधाई देते हुए कहा है कि नीरज चोपड़ा ने एक बार फिर से देश और प्रदेश का नाम रोशन किया है और उनकी इस उपलब्धि पर पूरे देश को उन पर गर्व है। चीन में चल रहे एशियाई खेलों में नीरज चोपड़ा ने 88.88 मीटर का भाला फेंक स्वर्ण पदक पर कब्जा किया।

http://www.sirafsachtv.com/archives/7667

इसी स्पर्धा में रजत पदक भी भारत के किशोर कुमार जैना ने जीता। नीरज चोपड़ा इससे पहले पिछली बार भी एशियाई खेलों के गोल्ड मेडल विजेता हैं । मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नीरज चोपड़ा और उनके पूरे परिवार को बधाई देते हुए कहा कि हरियाणा के इस लाल ने एक बार फिर न केवल हरियाणा बल्कि पूरे भारत का परचम विश्व स्तर पर लहराया है। मुख्यमंत्री ने नीरज को भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हुए सुखद भविष्य की कामना की है।

https://www.facebook.com/profile.php?id=61551905582372&mibextid=ZbWKwL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रमुख खबरे

hi Hindi
X
error: Content is protected !!
सिर्फ सच टीवी भारत को आवश्यकता है पुरे भारतवर्ष मे स्टेट हेड मंडल ब्यूरो जिला ब्यूरो क्राइम रिपोर्टर तहसील रिपोर्टर विज्ञापन प्रतिनिधि तथा क्षेत्रीय संबाददाताओ की खबरों और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे:- 8764696848,इमेल [email protected]